~ देखो दो साल हो गये…. 29th nov 2014 को ~

देखो दो साल हो गये…. 29th nov को  …  मुझे याद भी नहीं रहा  … कितना समझाया था पर नहीं माने…  यहाँ कोई आता जाता नहीं   … में भी कहाँ आती हूँ  … जब बहुत अकेली होती हूँ तब ही कुछ वक़्त बिताने यहाँ चली आती हूँ   … एक ठिकाना मिल गया दोषारोपण का …  अब thnx बोलूं इसके लिए भी … हद है सच्ची

हृदयकोष की अपनीली बात

मृत्युंजयी नमकीली सौगात

स्मृतियों में शेष आभासी प्रगास

प्राण दायनी छुवन, स्नेहिल सुवास

अनमोल रिश्ते ….  अनमोल पलों की अकूत निधि

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s