~ चुप रहने में नाद ~

SONY DSC

होने में शाश्वत छिपा है
झुठलाने में प्रमाद
बहने में स्वभाव लिखा है
थमने अवसाद
रमने में आकाश मिला है
गढ़ने में प्रतिवाद
सपने  में ब्रम्हांड जिया है
जगने में परिवाद
दहने में सर्वस्व जला है
जीने में  संवाद
कहने में अर्थ भिना है
चुप रहने में नाद
पाने में प्रकृष्ट प्रमा है
खोने में प्रह्लाद
(प्रमाद- उन्माद,परिवाद-व्यर्थ की निंदा ,प्रकृष्ट-उत्कृष्ट,प्रमा-चेतना /यथार्थ अनुभव ,प्रह्लाद-परम आनंद)
Advertisements